आपकी जोड़ों में दर्द क्‍यों हो सकता है?

Joint Pain

यह कोई रहस्य नहीं है कि जोड़ों के दर्द को उम्र बढ़ने के सामान्य हिस्से के तौर पर माना जाता है। फिर चाहे यह मांसपेशियों में दर्द हो, जोड़ों का दर्द हो या घुटनों में तेज दर्द, हम में से कुछ ने इसके साथ जीना सीख लिया है। पुरूष हो या महिला, आबादी के एक हिस्‍सा 40 की उम्र के बाद जोड़ की दर्द से परेशान है। कई लोगों का मानना है कि जब इंसान की उम्र बढ़ती है तो शरीर में कई बदलाव होते हैं, जिनमें से कुछ स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याएं पैदा करते हैं जिसमं जोड़ों का दर्द शामिल है। इसके अलावा जब गठिया की बात आती है तो विशेषज्ञ मानते हैं कि यह उम्र के साथ होती है। यहां तक कि आसपास फैली सामान्‍य मान्‍यताओं और विशेषज्ञों की राय के साथ यह मान लेने की जगह कि उम्र के साथ दर्द निश्चित है, इसके लिए समस्या की पहचान करना महत्वपूर्ण है ताकि इससे निपटा जा सके। 

यहां कुछ संभावित कारण दिए गए हैं जिसके कारण आपके जोड़ों में पीड़ा या दर्द हो सकती है:

ऑस्टियोआर्थराइटिस

जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है तो ऑस्टियोआर्थराइटिस अधिक बार होने लगती है।

यह भारत में सबसे आम जोड़ सबंधी बीमारियों में से एक है। हर साल लगभग 10 मिलियन मामले होते हैं।

यह क्‍यों होता है?

ऑस्टियोआर्थराइटिस एक प्रकार की गठिया की स्थिति है जो तब होती है जब हड्डियों के अंत में लचीले ऊतक घिस जाते हैं।

कार्टिलेज के अंत में मौजूद सुरक्षात्मक ऊतकों के टूटने के कारण समय के साथ एक या एक से अधिक जोड़ खराब हो जाते हैं।

लक्षण

  • जोड़ों में सूजन
  • जोड़ों में अकड़न
  • हाथ, गर्दन, पीठ के निचले हिस्से, घुटनों या कूल्हों आदि में दर्द
  • जोड़ों का चरचराना

रूमेटाइड गठिया

ऑस्टियोआर्थराइटिस की तरह ही 40 से अधिक उम्र के लोगों के बीच यह स्थिति भी आम है।

यह क्‍यों होता है?

रूमेटाइड गठिया एक स्थिति है जहां शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली जोड़ों सहित अपने खुद के ऊत्तकों पर ही प्रहार करता है जिसके कारण दर्द होता है।

यह एक पुरानी ऑटोइम्यून विकार है जो आमतौर पर हाथ और कलाई के छोटे जोड़ों और शरीर के दोनों किनारों को प्रभावित करता है।

समय के साथ, रूमेटाइड गठिया आंतरिक अंगों जैसे कि फेफड़ों पर भी आक्रमण कर सकते हैं जिससे स्थिति और खराब हो जाती है।

लक्षण

  • जोड़ों में नरमी, गर्मी, सूजन
  • जोड़ में अकड़न जो आमतौर पर सुबह और निष्‍क्रियता के बाद खराब हो जाती है
  • थकान, बुखार और वजन कम होना

दर्द दूर करने के नुस्खे

ऊपर बताए गए लक्षणों में से किसी के भी होने पर अपने डॉक्‍टर से परामर्श लेना महत्‍वपूर्ण है फिर भी कुछ और तरीके है जो आपको दर्द से राहत प्रदान करने में मदद कर सकते हैं।

  • डॉक्‍टरों/पेशेवरों द्वारा सुझाए गए व्‍यायाम ऑस्टियोआर्थराइटिस और रूमेटाइड गठिया जैसी परिस्थितियों के कारण होने वाले दर्द से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं।
  • ऑस्टियोआर्थराइटिस और रूमेटाइड गठिया, दोनों ऐसी स्थितियां हैं जिसमें लंबे समय तक जोड़ों के काफी दर्द होती है। इस प्रकार, सबसे अच्छा उपाय यह है कि आप अपने दैनिक दिनचर्या के साथ दर्द निवारक उपायों का उपयोग करें।

तेजी से जोड़ों के दर्द से राहत के लिए रहस्य:

डिक्लोफेनाक के साथ Moov STRONG डॉक्‍टर द्वारा सलाह दी गई नम्‍बर 1 सक्रिय उत्‍पाद है और जब बात जोड़ और घुटनों की दर्द से तुरंत और लंबे समय तक राहत की आती है तो यह आश्चर्यजनक रूप से कारगर है।  यह तेजी से काम करता है और लंबे समय तक तेज दर्द से राहत देता है।
यह सक्रिय उत्‍पाद दर्द के स्रोत पर काम करता है, एक गर्माहट पैदा करता है और दर्द से लंबे समय तक राहत देता है।
इसमें एक अनोखा गैर चिपचिपा, तेजी से सोखने का फॉर्मूला है जिसके कारण जेल तेजी से काम करता है और दर्द को कम कर सकता है।